राजनीति

किसानों का रेल रोको आंदोलन जारी

राजनीति (GIL TV News) :- केंद्रीय राज्य मंत्री (एमओएस) अजय मिश्रा टेनी को केंद्रीय मंत्रिमंडल से हटाने की मांग को लेकर किसान संगठनों का छह घंटे का राष्ट्रव्यापी ‘रेल रोको’ आंदोलन जारी है। सोमवार सुबह 10 बजे से शाम चार बजे तक किसान संगठनों का यह आंदोलन चलेगा। रेलवे के सीपीआरओ ने कहा है कि आंदोलन की वजह से उत्तर रेलवे जोन में 30 स्थान प्रभावित हुए हैं। वहीं, लखनऊ पुलिस ने चेतावनी दी है कि किसान संगठन के ‘रेल रोको आंदोलन’ में हिस्सा लेने वालों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई करेगी। लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में उनके बेटे आशीष मिश्रा टेनी को गिरफ्तार किया गया है।किसान संघों द्वारा बुलाए गए रेल रोको आंदोलन के मद्देनजर, हरियाणा के बहादुरगढ़ रेलवे स्टेशन पर सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) को तैनात किया गया है। बहादुरगढ़ के पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) पवन शर्मा ने कहा, ‘किसान संघों ने आज सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक रेल रोको विरोध प्रदर्शन का आह्वान किया है।

इसलिए, हमने यहां सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी है। बीएसएफ यहां भी है। हम परिस्थिति की बारीकी से निगरानी कर रहे हैं।किसान संगठनों के रेल रोको आंदोलन पर भारतीय किसान यूनियन नेता राकेश टिकैत ने कहा है कि रेल रोको आंदोलनअलग-अलग जिलों में अलग-अलग जगह होगा। पूरे देश में वहां के लोगों को पता रहता है ​कि हमें कहां ट्रेन रोकनी है। भारत सरकार ने अभी हमसे कोई बात नहीं की है।किसान संगठनों के रेल रोको आंदोलन के आह्वान का असर कई राज्यों में देखने को मिल रहा है। अमृतसर के देवीदास पुरा गांव में प्रदर्शनकारी रेलवे ट्रैक पर बैठे है। वहीं, हरियाणा के सोनीपत जंक्शन रेलवे स्टेशन पर बड़ी संख्या में सुरक्षा बल तैनात किया गया है।

प्रदर्शनकारी बहादुरगढ़ में रेलवे ट्रैक पर बैठे है।वहीं, इस दौरान सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पुलिस और प्रशासन ने भी अलर्ट जारी कर दिया है। लखनऊ पुलिस ने कहा है कि किसान संगठन के ‘रेल रोको आंदोलन’ में हिस्सा लेने वालों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई करेगी। जिले में 144 सीआरपीसी भी लगाया गया है और अगर कोई सामान्य स्थिति को बाधित करने की कोशिश करता है तो एनएसए लगाया जाएगा।संयुक्त किसान मोर्चा ने रविवार को जारी बयान में कहा कि लखीमपुर खीरी नरसंहार मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्र को मंत्री पद से बर्खास्त करके तुरंत गिरफ्तार करने की मांग की जाएगी, ताकि लखीमपुर खीरी हिंसा में न्याय सुरक्षित किया जा सके। इसके लिए घोषित कार्यक्रम के तहत 18 अक्टूबर को रेल सेवाएं बाधित की जाएंगी। किसान संगठनों की तरफ से कहा गया है कि रेल संपत्ति को बिना क्षति पहुंचाए रेल रोको शांतिपूर्ण रहेगा।

Related posts

कामेड‍ियन वीर दास को लेकर कांग्रेस में दो फाड़

GIL TV News

कर्नाटक पहुंचे गृह मंत्री अमित शाह

GIL TV News

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलीं ममता बनर्जी

GIL TV News

Leave a Comment