Featured

प्रयागराज में CBI ने SIT से अपने हाथ में ली महंत नरेन्द्र गिरि की संदिग्ध मृत्यु की जांच

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की 20 सितंबर को प्रयागराज में संदिग्ध मृत्यु की जांच की कमान देश की शीर्ष जांच एजेंसी सीबीआइ ने संभाल ली है। सीएम योगी आदित्यनाथ के बीते बुधवार को महंत की मृत्यु की सीबीआइ जांच की संस्तुति की थी। इसमें केन्द्र सरकार के गृह मंत्रालय ने तत्परता दिखाई और गुरुवार रात नई दिल्ली में सीबीआइ ने केस दर्ज किया। इसके बाद टीम के कुछ सदस्य शुक्रवार रात प्रयागराज पहुंच गए।अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेन्द्र गिरि की संदिग्ध मृत्यु प्रकरण की जांच संभालने के बाद केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआइ) ने शनिवार को उत्तर प्रदेश सरकार की एसआइटी से केस अपने हाथ में ले लिया। सीबीआइ की इस छह सदस्यीय टीम का नेतृत्व सीबीआइ स्पेशल ब्रांच के एएसपी केएस नेगी कर रहे हैं। टीम के अन्य सदस्यों के साथ नेगी ने शनिवार को प्रयागराज में केस टेकओवर कर लिया है। सीबीआइ स्पेशल ब्रांच के एएसपी और इस केस के मुख्य जांच अधिकारी केएस नेगी टीम के अन्य कुछ सदस्यों के साथ शनिवार को प्रयागराज पहुंचे। प्रयागराज के इस केस की गंभीरता को समझते हुए शनिवार दोपहर बाद सीबीआइ के आइजी विप्लव चौधरी भी प्रयागराज पहुंचेंगे। वह इस दौरान श्री मठ बाघम्बरी गद्दी भी जा सकते हैं।सीबीआइ के केस का चार्ज लेते ही एसआइटी ने सारी अपनी रिपोर्ट के साथ एफआइआर की कापी, पोस्टमार्टम रिपोर्ट, सीसीटीवी फुटेज, डीवीआर, महंत नरेन्द्र गिरि के मोबाइल तथा केस डायरी सहित दूसरे साक्ष्य सीबीआइ सौंप दिए हैं। इस केस में सीबीआइ की टीम ने प्रयागराज के जार्जटाउन थाने में दर्ज मुकदमे को ही आधार बनाया है। सीबीआइ टीम के कुछ सदस्य शुक्रवार देर शाम प्रयागराज पहुंचे। उन्होंने पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों से मुलाकात की। अब सीबीआइ की टीम एसआइटी के साथ पुलिस लाइन में बैठक के बाद जांच को आगे बढ़ाएगी।

Related posts

कोर्ट में जीवन देने और पालन पौषण करने वाली माताएं आमने-सामने

GIL TV News

3 साल के उच्चतम स्तर पर पहुंचा कच्चा तेल

GIL TV News

अंग्रेजों की दमनकारी नीति का इस वीरांगना ने किया था सशस्त्र मुकाबला

GIL TV News

Leave a Comment