Life Style

कोरोना से बचाव में प्रोटीन की जरूरत, पर 73% भारतीयों में इसकी कमी

देश के 16 शहरों में हुए एक सर्वे के मुताबिक 73% भारतीयों में प्रोटीन की कमी है और 93% लोगों को इसकी जानकारी भी नहीं है। जबकि कोरोना काल में प्रोटीन की ज्यादा जरूरत है। संक्रमण के बाद कमजोर हो चुकी मांसपेशियों और रोगों से लड़ने वाले इम्यून सिस्टम के लिए एक्सपर्ट प्रोटीन लेने की सलाह दे रहे हैं। प्रोटीन की कमी होने पर मरीज थकान, कमजोरी, चलने-फिरने में दिक्कत और अनिद्रा से जूझ रहे हैं।एक्सपर्ट का कहना है, शरीर में हुए डैमेज को रिपेयर करने का काम प्रोटीन ही करता है, लेकिन 90% लोग यही नहीं जानते कि रोजाना कितना प्रोटीन लेना चाहिए। इसमें सबसे ज्यादा 95% से अधिक महिलाएं शामिल हैं। नतीजा, 71% भारतीयों की मांसपेशियां कमजोर हैं।हर साल 24 से 30 जुलाई के बीच नेशनल प्रोटीन वीक मनाया जाता है। इस मौके पर जानिए प्रोटीन कैसे काम करता है, रोजाना कितना प्रोटीन लेना चाहिए और डाइट में इसकी मात्रा अधिक या कम होने पर क्या फायदे-नुकसान हो सकते हैं।

जिस तरह एक बिल्डिंग को तैयार करने के लिए ईंटों का होना जरूरी है, उसी तरह शरीर के लिए प्रोटीन अहम है। इसीलिए इसे बिल्डिंग ब्लॉक्स ऑफ लाइफ भी कहा जाता है। शरीर के विकास के लिए प्रोटीन का होना जरूरी है। ICMR (इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च) का कहना है कि रोजाना कम से कम 48 ग्राम प्रोटीन लेना जरूरी है, लेकिन भारतीयों के खानपान में प्रोटीन की मात्रा इससे काफी कम है।

औसतन, एक इंसान का जितना वजन होता है, उसे उतने ग्राम प्रोटीन लेना चाहिए। जैसे- आपका वजन 60 किलो है तो रोजाना डाइट में 60 ग्राम प्रोटीन लेना चाहिए।

Related posts

विटामिन डी की कमी होने पर दिखते हैं यह लक्षण

GIL TV News

युवा तेजी से हो रहे हैं हार्ट अटैक और दिल की बीमारियों का शिकार

GIL TV News

एक उपाय से मिल जाएगी चमकदार त्वचा

GIL TV News

Leave a Comment