राजनीति

गुजरात में चुनावी तैयारियों की समीक्षा हुई समीक्षा

गुजरात में चुनाव की तैयारियां शुरू हो चुकी हैं। राजनीतिक दल तो पहले से ही गुजरात में लगातार प्रचार प्रसार कर रहे हैं। दूसरी ओर आज चुनाव आयोग की एक बड़ी बैठक हुई है। चुनाव को प्रलोभन मुक्त कैसे बनाया जाए, इस पर भी एक बड़ी चर्चा हुई है। मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार और ईसी अनूप चंद्र पांडे आज गुजरात पहुंचे थे। मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार और चुनाव आयोग अनूप चंद्र पांडे ने गुजरात में आगामी विधानसभा चुनावों के प्रलोभन मुक्त और सुचारू संचालन के लिए चुनाव तैयारियों की समीक्षा के लिए आज प्रवर्तन एजेंसियों के साथ बैठक की है। चुनाव आयोग की ओर से गुजरात में चुनावी तैयारियों की समीक्षा भी की गई है। सीईसी राजीव कुमार गांधीनगर में एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान कहा कि गुजरात में करीब 4.83 करोड़ पंजीकृत मतदाता हैं। 182 विधानसभा क्षेत्रों में 51,782 मतदान केंद्र बनाए जाएंगे। इसके साथ ही उन्होंने आपराधिक पृष्ठभूमि से आने वाले उम्मीदवार को लेकर भी बड़ी बात कही है। राजीव कुमार ने कहा कि आपराधिक पृष्ठभूमि वाले उम्मीदवार के चयन पर राजनीतिक दलों को कारण देना होगा। ऐसे उम्मीदवारों को अपने आपराधिक रिकॉर्ड के बारे में तीन बार विज्ञापन देना होगा ताकि नागरिक सूचित निर्णय ले सकें। चुनाव आयोग की ओर से प्रशासन के साथ में एक बड़ी बैठक की गई है।आपको बता दें कि गुजरात विधानसभा चुनाव इसी साल नवंबर दिसंबर में प्रस्तावित है। गुजरात विधानसभा में 182 सीट हैं। वर्तमान में भाजपा की सरकार है। उसके पास 111 सीट हैं। गुजरात में भाजपा के लिए सत्ता में वापसी करना एक बड़ी चुनौती है। गुजरात में लंबे समय से भाजपा की सरकार है। वहीं, कांग्रेस भी गुजरात में बड़ी उम्मीदों के साथ देख रही। कांग्रेस को इस बात की उम्मीद है कि गुजरात में इस बार उसके सरकार बनेगी। गुजरात चुनाव इस बार दिलचस्प होने के भी आसार है। इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि आम आदमी पार्टी के वहां जाने से मुकाबला त्रिकोणीय हो सकता है। अब तक गुजरात में भाजपा और कांग्रेस के बीच में मुकाबला हुआ करता था। लेकिन आप वहां आम आदमी पार्टी एक नए विकल्प के तौर पर सामने आई है।

Related posts

सीएम बघेल ने छत्तीसगढ़ में 23 ट्रेनों की सेवाएं रोकने के रेलवे के फैसले पर जताई आपत्ति

GIL TV News

महाराष्ट्र में ‘भारत जोड़ो यात्रा’ का स्वागत कर सकते हैं शरद पवार

GIL TV News

तिब्‍बत को नेहरू और ताइवान को वाजपेयी ने माना चीन का हिस्‍सा

GIL TV News

Leave a Comment