Spiritual/धर्म

इस साल देवशयनी एकादशी पर पड़ रहे हैं तीन शुभ योग, इस मुहूर्त में करें व्रत का पारण

आषाढ़ के शुक्ल पक्ष की एकादशी को देवशयनी एकादशी कहा जाता है। इसे हरिशयनी या सौभाग्यदायिनी एकादशी के नाम से भी जाना जाता है। मान्यताओं के अनुसार, देवशयनी एकादशी के दिन से भगवान विष्णु पूरे चाह माह के लिए योग निद्रा में चले जाते हैं। इसके बाद से सभी शुभ और मांगलिक कार्य बंद हो जाते हैं। इस चार महीने की अवधि को चातुर्मास कहते हैं। इसके बाद भगवान विष्णु कार्तिक के शुक्ल पक्ष की देवोत्थान एकादशी के दिन जागते हैं। इस साल की देवशयनी एकादशी सबसे ज्यादा ख़ास मानी जा रही है, क्योंकि इस बार एकादशी पर तीन-तीन शुभ योग बन रहे हैं।

देवशयनी एकादशी 2022 का शुभ मुहूर्त 

आषाढ़ शुक्ल पक्ष तिथि आरंभ- 9 जुलाई शाम 04 बजकर 39 मिनट से

आषाढ़ शुक्ल पक्ष तिथि समाप्त- 10 जुलाई दोपहर 02 बजकर 13 मिनट तक

इस बीच देवशयनी एकादशी के व्रत का पारण 11 जुलाई सुबह 05 बजकर 55 मिनट से लेकर 08 बजकर 36 मिनट तक किया जा सकेगा।

देवशयनी एकादशी 2022 पर शुभ योग

इस साल देवशयनी एकादशी पर रवियोग, शुभ योग और शुक्ल योग बन रहे हैं। 10 जुलाई यानी रविवार को सुबह 05 बजकर 31 मिनट से 09 बजकर 55 मिनट तक रवि योग बना रहेगा। सुबह से लेकर देर रात 12 बजकर 45 मिनट तक शुभ योग बना रहेगा। फिर देर रात 12 बजकर 45 मिनट से अगली सुबह तक शुक्ल योग बना रहेगा।

Related posts

प्रभु को कंधे पर बैठाने से पहले श्रीराम और हनुमानजी का सुंदर वार्तालाप

GIL TV News

सीता नवमी कल, जानिए महत्व

GIL TV News

सावन में लाखों लोग देवघर में भगवान भोले को चढ़ाते हैं जल

GIL TV News

Leave a Comment