राजनीति

पंजाब में सजने लगी मुफ्त चुनावी वायदों की दुकान

एक कहानी है। एक बार एक शेर भेड़ों के झुंड को संबोधित कर रहा था। शेर ने कहा, मेरी सरकार बनी तो मैं सभी भेड़ों को मुफ्त में कंबल दूंगा। जोर-जोर से तालियां बनने लगीं। एक मेमना ने अपनी मां से पूछा। इतने कंबल के लिए तो बहुत सारा ऊन लगेगा। यह ऊन कहां से आएगा। मां ने जवाब दिया, निकाला तो हम ही से जाएगा। 2022 के विधान सभा चुनाव को लेकर यह कहावत फिट बैठती है। सभी राजनीतिक दलों ने अपनी वायदों की दुकानें सजा ली हैं।

Related posts

बिल गेट्स से PM मोदी ने की खास बात

GIL TV News

उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने संसद के बजट सत्र की तैयारियों का लिया जायजा

GIL TV News

पंजाब: मुख्यमंत्री चन्नी बोले- सिद्धू के इस्तीफे से माहौल बिगड़ा

GIL TV News

Leave a Comment