Life Style

लाइफस्टाइल में ये छोटे-छोटे बदलाव लाकर डायबिटीज़ को काफी हद तक किया जा सकता है कंट्रोल

अगर आप भी उन 422 मिलियन लोगों में से हैं जो डायबिटीज़ से पीड़ित हैं तो आप जानते ही होंगे कि किस तरह आपका शरीर खाने से पर्याप्त मात्रा में ऊर्जा नहीं बना पाता। आमतौर पर जब हम खाना खाते हैं, यह शरीर में पचने के बाद ग्लूकोज़ मॉलिक्यूल्स में बदल जाता है, इसे इंसुलिन की मदद से शरीर की कोशिकाओं द्वारा अवशोषित कर लिया जाता है। लेकिन डायबिटीज़ के मरीज़ों में यह प्रक्रिया ठीक तरह से नहीं हो पाती, क्योंकि उनके शरीर में इंसुलिन पर्याप्त मात्रा में नहीं बनता या फिर शरीर इंसुलिन का सही उपयोग नहीं कर पाता। इसके चलते, यह शुगर रक्त में ही बनी रहती है और ब्लड शुगर बढ़ जाती है। ऐसे में डायबिटीज़ के मरीज़ों के लिए ज़रूरी है कि वे अपने ब्लड शुगर लेवल पर निगरानी बनाए रखें, जिससे वे स्वस्थ जीवन जी सकें। आप अपनी जीवनशैली में छोटे-छोटे बदलाव लाकर डायबिटीज़ का प्रबन्धन कर सकते हैं और एक अच्छी ज़िंदगी जी सकते हैं

1. सेहतमंद आहार लें

अगर आपको डायबिटीज़ है, तो आपका स्वास्थ्य बहुत कुछ इस बात पर निर्भर करता है कि आप क्या खाते हैं। क्योंकि जो कुछ भी आप खाते हैं, उसका सीधा असर आपकी ब्लड शुगर पर पड़ता है। हालांकि डायबिटीज़ में किसी भी तरह का खाना खाने की मनाही नहीं है, लेकिन आपके शरीर को जितनी ज़रूरत है उतना ही खाएं। अपने आहार में फल, सब्ज़ियां और साबुत अनाज शामिल करें। ज़्यादा फाइबर और कम कार्बोहाइड्रेट से युक्त आहार लें क्योंकि यह शुगर में बदल जाता है। जहां तक हो सके, चीनी का सेवन न करें। इसके बजाए अपने खाने में मिठास शामिल करने के लिए ओर्गेनिक शहद, गुड़, स्टीविया का सेवन करें। इन सभी बातों का खास ध्यान रखें, खासतौर पर अगर आप इंसुलिन पर हैं या ब्लड शुगर पर नियन्त्रण करने के लिए दवाएं ले रहे हैं।

अगर आप भी उन 422 मिलियन लोगों में से हैं जो डायबिटीज़ से पीड़ित हैं तो आप जानते ही होंगे कि किस तरह आपका शरीर खाने से पर्याप्त मात्रा में ऊर्जा नहीं बना पाता। आमतौर पर जब हम खाना खाते हैं, यह शरीर में पचने के बाद ग्लूकोज़ मॉलिक्यूल्स में बदल जाता है, इसे इंसुलिन की मदद से शरीर की कोशिकाओं द्वारा अवशोषित कर लिया जाता है। लेकिन डायबिटीज़ के मरीज़ों में यह प्रक्रिया ठीक तरह से नहीं हो पाती, क्योंकि उनके शरीर में इंसुलिन पर्याप्त मात्रा में नहीं बनता या फिर शरीर इंसुलिन का सही उपयोग नहीं कर पाता। इसके चलते, यह शुगर रक्त में ही बनी रहती है और ब्लड शुगर बढ़ जाती है। ऐसे में डायबिटीज़ के मरीज़ों के लिए ज़रूरी है कि वे अपने ब्लड शुगर लेवल पर निगरानी बनाए रखें, जिससे वे स्वस्थ जीवन जी सकें। आप अपनी जीवनशैली में छोटे-छोटे बदलाव लाकर डायबिटीज़ का प्रबन्धन कर सकते हैं और एक अच्छी ज़िंदगी जी सकते हैं

1. सेहतमंद आहार लें

अगर आपको डायबिटीज़ है, तो आपका स्वास्थ्य बहुत कुछ इस बात पर निर्भर करता है कि आप क्या खाते हैं। क्योंकि जो कुछ भी आप खाते हैं, उसका सीधा असर आपकी ब्लड शुगर पर पड़ता है। हालांकि डायबिटीज़ में किसी भी तरह का खाना खाने की मनाही नहीं है, लेकिन आपके शरीर को जितनी ज़रूरत है उतना ही खाएं। अपने आहार में फल, सब्ज़ियां और साबुत अनाज शामिल करें। ज़्यादा फाइबर और कम कार्बोहाइड्रेट से युक्त आहार लें क्योंकि यह शुगर में बदल जाता है। जहां तक हो सके, चीनी का सेवन न करें। इसके बजाए अपने खाने में मिठास शामिल करने के लिए ओर्गेनिक शहद, गुड़, स्टीविया का सेवन करें। इन सभी बातों का खास ध्यान रखें, खासतौर पर अगर आप इंसुलिन पर हैं या ब्लड शुगर पर नियन्त्रण करने के लिए दवाएं ले रहे हैं।

3. नियमित रूप से स्वास्थ्य की जांच कराएं

अपने डॉक्टर के संपर्क में रहें, साल में दो बार अपने स्वास्थ्य की जांच कराएं। साथ ही डायबिटीज़ के मरीज़ों में दिल की बीमारियों की संभावना अधिक होती है। इसलिए अपनी एबीसीः ए1सी, ब्लड प्रेशर और कॉलेस्ट्रॉल पर निगरानी रखें, अपने स्वास्थ्य की जांच नियमित रूप से कराते रहें।

4. तनाव से बचें

लम्बे समय तक तनाव रहने से शरीर में कुछ हॉर्मोन बढ़ जाते हैं, जिससे ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है। साथ ही अगर आप तनाव लेते हैं, तो अपने डायबिटीज़ पर प्रबन्धन ठीक से नहीं कर पाएंगे, इससे आपके व्यायाम, सही आहार और दवाओं में रूकावट आएगी। तनाव से बचने के लिए योग करें, गहरी सांसें लें या अपने शौक के अनुसार ऐसी चीज़ें करें जिससे आप तनाव से दूर रह सकें।

Related posts

आलू, संतरे और टमाटर की नेचुरल ब्लीच से चेहरे की स्किन में लाएं निखार

GIL TV News

मॉनसून में कर रही हैं वेडिंग, तो काम आएंगी ये 5 मेकअप टिप्स

GIL TV News

पेट फूलने की समस्या!

GIL TV News

Leave a Comment