Spiritual/धर्म

कब है आश्विन मास की संकष्टी चतुर्थी? जानें पूजा मुहूर्त एवं महत्व

हिन्दू कैलेंडर के अनुसार, आज से आश्विन मास का प्रारंभ हुआ है। आज आश्विन मास के कृष्ण पक्ष की प्रतिपदा तिथि है। आश्विन मास की संकष्टी चतुर्थी या गणेश चतुर्थी तीन दिन बाद चतुर्थी तिथि को है। अर्थात् आश्विन मास की संकष्टी चतुर्थी 24 सितंबर दिन शुक्रवार को है। इस चतुर्थी को विघ्नराज संकष्टी चतुर्थी कहा जाता है। एक मास में दो बार चतुर्थी तिथि आती है, जिसमें गणपति की पूजा की जाती है। कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को संकष्टी गणेश चतुर्थी कहा जाता हैं और शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को विनायक चतुर्थी कहते हैं। आइए जानते हैं आश्विन मास की संकष्टी चतुर्थी की सही तिथि एवं चंद्र दर्शन के समय के बारे में।हिन्दी पंचांग के अनुसार, आश्विन मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि का प्रारंभ 24 सितंबर दिन शुक्रवार को प्रात: 08 बजकर 29 मिनट पर हो रहा है। इसका समापन 25 सितंबर दिन शनिवार को सुबह 10 बजकर 36 मिनट पर होना है। चतुर्थी के दिन गणेश जी की पूजा दोपहर में होती है, ऐसे में आप राहुकाल का ध्यान रखकर गणपति पूजा करें।

Related posts

होली के आगमन का प्रतीक है यह त्योहार

GIL TV News

रामनवमी पर्व का महत्व

GIL TV News

विवाह पंचमी

GIL TV News

Leave a Comment