Spiritual/धर्म

इस बार भी नहीं होगा चमलियाल मेला

यह लगातार चौथा साल है जब जम्मू के इंटरनेशनल बार्डर पर लगने वाले चमलियाल मेले में परंपरा टूटेगी। चार सालों से दोनों मुल्कों के बीच प्रसाद के रूप में बांटा जाने वाला ‘शक्कर’ और ‘शर्बत’ नहीं बंटेगा। लगातार दूसरे साल इस मेले को कोरोना के कारण रद्द कर दिया गया है जबकि वर्ष 2019 में इसे पाक गोलाबारी के डर से आयोजित नहीं किया गया था। उससे पहले वर्ष 2018 में पाक सेना के अड़ियल रवैये के कारण भारतीय पक्ष ने ‘शक्कर’ और ‘शर्बत’ उस पार भिजवाने से मना कर दिया था। इस बार यह मेला 24 जून को आयोजित होना था।अधिकारियों ने इस बार इस ओर के लोगों को भी दरगाह पर एकत्र होने से मना कर दिया है। इसलिए इस बार दोनों मुल्कों के बीच बंटने वाली शक्कर व शर्बत की परंपरा टूट जाएगी। वैसे यह कोई पहला अवसर नहीं है कि यह परंपरा टूटने जा रही हो बल्कि अतीत में भी पाक गोलाबारी के कारण कई बार यह परंपरा टूट चुकी है और इसमें दूसरी बार कोरोना संकट भी एक कारण बन गया है।

Related posts

भगवान की विशेष कृपा पाने के लिए जरूर करें पालन

GIL TV News

शनिदेव

GIL TV News

नए साल से पहले पुरी के जगन्नाथ मंदिर के खुलने की उम्मीद

GIL TV News

Leave a Comment