राजनीति

सरकार और किसान संगठनों के बीच 9वें दौर की बातचीत आज

कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे किसान नेताओं और सरकार के बीच आज 9वें दौर की बातचीत होगी। अब तक आठ दौर की बातचीत हो चुकी है जिसमें कोई खास नतीजा नहीं निकल पाया है। एक ओर जहां किसान कृषि कानूनों को वापस लिए जाने से कम पर मानने को तैयार नहीं है तो वहीं सरकार कृषि कानून को वापस लेने को तैयार नहीं है। आज की बैठक इसलिए भी अहम है क्योंकि सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त पैनल के बाद यह पहली बैठक हो रही है।किसान लगभग 50 दिन से ज्यादा से दिल्ली के अलग-अलग बॉर्डर पर केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। आज की बैठक को लेकर भी किसानों का मानना है कि वह इस बैठक में शामिल तो जरूर होंगे लेकिन बहुत ज्यादा कुछ उम्मीद नहीं कर रहे हैं। किसानों की मांग साफ तौर पर कि तीनों कृषि कानून को वापस किए जाने का है और साथ ही साथ फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य की कानूनी गारंटी दी जाने की है। किसान 28 नवंबर से दिल्ली के अलग-अलग सीमाओं पर बैठे हुए हैं।

Related posts

शुभेंदु का ममता से सवाल, केंद्र की योजनाओं से किसानों को क्यों रखा है वंचित?

GIL TV News

विकास दुबे एनकाउंटर पर अखिलेश यादव ने उठाए सवाल

GIL TV News

केजरीवाल पर शाह का हमला

GIL TV News

Leave a Comment